You are here
Home > खेल जगत > OMG! कभी बल्लेबाजो के लिए खौफ हुआ करता था यह तेज गेंदबाज, आज एक डीजे वाले की भूमिका निभाकर पाल रहा हैं अपना पेट
loading...
loading...

OMG! कभी बल्लेबाजो के लिए खौफ हुआ करता था यह तेज गेंदबाज, आज एक डीजे वाले की भूमिका निभाकर पाल रहा हैं अपना पेट

दक्षिण अफ्रीका के एक प्रतिभाशाली तेज गेंदबाज जिनको कुछ पैसों के लालच ने करियर में एक बडा भूचाल ला दिया और उनके करियर को ये लालच का दीमक चट ही कर गया। दक्षिण अफ्रीका के इस प्रतिभाशाली तेज गेंदबाज का नाम लोनवाबो सोत्सोबे है। दक्षिण अफ्रीका के लिए अपने करियर का जबरदस्त आगाज करने वाले लोनवाबो सोत्सोबे ने दक्षिण अफ्रीका के घरेलु क्रिकेट में कुछ पैसों के लिए अपना ईमान बेच डाला।

दक्षिण अफ्रीका के लोनवाबो सोत्सोबे पर लगा फिक्सिंग के कारण 8 साल का प्रतिबंध

साल 2015 के दक्षिण अफ्रीका के घरेलु टी-20 टूर्नामेंट राम-स्लैम टी-20 कप में लोनवाबो सोत्सोबे ने दक्षिण अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज गुलाम बोदी के साथ मैच फिक्सिंग के कारनामें को अंजाम दिया। इसके बाद मामले को लेकर लंबी जांच लगी और आखिरकार दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड ने बड़ा फैसला लेते हुए इन गुलाब बोदी के साथ ही लोनवाबो सोत्सोबे को भी 8 साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया।

पोर्ट एलिजाबेथ में अब पबो में चलाते हैं डीजे

अपने जीवन में मैच फिक्सिंग के कलंक लगने के बाद क्रिकेट से प्रतिबंधित होने के बाद अब लोनवाबो सोत्सोबे अलग तरह की ही जीवन जी रहे हैं। क्रिकेट से दूर होने के बाद ये पता चला है कि वो पबों में डीजे साउंड चलाते हैं। मैच फिक्सिंग के आरोप को स्वीकारने वाले लोनवाबो सोत्सोबे हाल ही में अपने गृहनगर जॉहानिसबर्ग को छोड़कर पोर्ट एलिजाबेथ में रहने लगे हैं और साथ ही उन्हें पोर्ट एलिजाबेथ के पबो में डीजे साउंड चलाते देखा गया है।

संगीत है मेरी पहली पसंद, इसलिए चलाता हूं डीजे


डीजे साउंड चलाना कहीं ना कहीं ये दिखाता है कि सोत्सोबे को संगीत बहुत ही पसंद है। वैसे लोग तो सोत्सोबे को पबो में देखकर हैरान रह जाते हैं लेकिन वहीं सोत्सोबे ने इसको लेकर कहा कि “लोग जब मुझे यहां के स्थानीय पबो में डीजे का साथ देखते हैं तो हैरान रह जाते हैं। वो सोचते हैं कि मैं बहुत नीचे जा चुका हूं लेकिन मैं नहीं। मैं तो हमेशा ही संगीज को पसंद करता हूं। यहीं नहीं जब मैं पेशेवर क्रिकेट खेलता था तब भी मैंने अपने खुद के डीजे इक्यूपमेंट खरीदे थे।मैं इसे अपने घर पर भी चलाता हूं और मेरे दोस्तो का मनोरंजन करता हूं। अब तो मैं पूरे देश में डीजे के साथ यात्रा करता हूं।”

फिक्सिंग के कांड के बाद हुआ बहुत दुख

फिक्सिंग को लेकर सोत्सोबे ने कहा कि “मैं बहुत उदास था। और मैंने अपनेआप से कई तरह के सवाल किए इसलिए नहीं कि ये दोषी था लेकिन इसलिए कि मैं जिसे सबसे ज्यादा प्यार करता था वो अब लंबे समय तक नहीं हो सकेगा। मैंने इस कहानी को कभी भी अपनी तरफदारी करने के लिए नहीं कही। कोई बात नहीं ये बदलेगा और फिर से वापसी करूंगा।”

Leave a Reply

loading...
Top
loading...