You are here
Home > अभी अभी > जिस पत्तल में हमने शर्म के मारे खाने को छोड़ दिया उसमे अब जर्मनी के लोग खाते है –
loading...
loading...

जिस पत्तल में हमने शर्म के मारे खाने को छोड़ दिया उसमे अब जर्मनी के लोग खाते है –

आज कल की आधुनिकता भी इतने शीर्ष क्रम में न आई थी की लोंगो पर नए अवसादो का का खुमार इस कदर सर पर चढ़ जाये की की उससे नीचे आने हमको शर्म महसूस होने लगे |उन दिनों दावत की रंगीनियत कुछ अजीब सी होती थी | सफ़ेद चादरों की सिलवटें मेजों पर साफ़ साफ़ दिखाई देती थी | और फिर दौर शुरू होता था प्लेटें सजाने का उन पत्तों की महक वाली पत्तलों का कारवां मानो थम सा गया हो | अधिनिकता हमारे लोंगो की दिमाग में इस कदर भर गयी है | की अच्छे और बुरे में अंतर करने की शक्ति हम खो चुके है |
अभी कुछ ही समय तो बीते है जब दावतों में हमें पत्तल मिला करती थी|

पर अब उनकी जगह डिस्पोजल ने ले ली है |
आज आपको सुनकर और अपनी आँखों से देखकर हैरानी होगी की जिस  पत्तल में हमने शर्म के मारे उसमे खाना छोड़ दिया जर्मनी की जानी मानी कंपनिया इस पत्तलों को बनाने में लगी है और इस बार वो हमसे आगे निकल चुकी है | इस विडियो में दिखाया गया है की वहा के लोग इस पत्तलों को किस तरह से इस्तेमाल करते है |और इस्तेमाल करने के बाद किस तरह इसको दोबारा नष्ट करते है | आज कल यह व्यापर जर्मनी में बहुत फल फूल रहा है | क्यों की यह एक दम प्राकर्तिक है | और सस्ती भी |और तो और यह प्रदुषण के मामले में सबसे अच्छी मानी जाती | और हम है की इन  पत्तलों को भुलाये जा रहें है|
देखें जर्मनी का ये विडियो-

Leave a Reply

loading...
loading...