अमूमन माना जाता है कि जासूसी का काम पुरुष ही कर सकते हैं। यह मानना लाजमी भी है क्योंकि जासूसी में जो रिस्क और मुश्किलें हैं, उनका सामना करने के लिए ना केवल तेज दिमाग चाहिए बल्कि खतरों से निपटने का कलेजा भी चाहिए। पर अब जो हम आपको बताने जा रहे हैं उसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। जासूसी में महिलाओं ने भी यादगार कारनामे किए हैं।

इनमें से ही एक नाम जो सबसे ऊपर आता है वह है माताहारी का। माता हरी की सुंदरता और मनमोहक अदा से कोई भी पुरुष आकर्षित हुए बिना नहीं रह पाया। इसकी गजब की सुंदरता से महिलाएं भी ईष्र्या करती थीं। माताहारी हॉट डांस के लिए जानी जाती थी। बताया जाता है कि प्रथम विश्व युद्ध के दौरान उसने जर्मनी के लिए जासूसी की थी। अपने हॉट और अर्धनग्न डांस के चलते माताहारी को यूरोप के कई शहरों में बुलाया गया और वहां उसने सेना के उच्च पदों पर आसीन अधिकारियों और शक्तिशाली राजनेताओं को अपना मुरीद बना लिया।

प्रथम विश्व युद्ध के पहले माताहारी को एक सामान्य डांसर और खुले विचारों की महिला ही माना जाता था, लेकिन जैसे ही युद्ध शुरू हुआ, उसे खतरनाक सम्मोहन करने वाली कामुक महिला के रूप में देखा जाने लगा। विश्वयुद्ध शुरू होते ही फ्रांस ने उसे जर्मनी का जासूस समझा वहीं दूसरी ओर जर्मनी उसे फ्रांस का जासूस समझने लगा। ऐसा भी माना जाता है कि वह दोनों देशों को बेवकूफ बनाकर दोनों से पैसा कमा रही थी। हालांकि ब्रिटेन की खुफिया एजेंसियों ने सबसे पहले सबूत जुटाकर उसे बेनकाब कर दिया। माता हरी को कोड नेम एच-21 के नाम से जाना जाता था। 1917 में उसे जर्मनी का जासूस घोषित कर गिरफ्तार कर लिया गया। आखिरकार उसे 15 सितंबर 1917 को मार दिया गया। उस समय वह 41 वर्ष की थी।

 

रूस की यह पॉपुलर सेलिब्रिटी खुबसूरत होने के साथ ही हाई-प्रोफाइल लोगों को रिझाने में माहिर है। बताया जाता है कि यह 28 वर्षीय सुंदरी अमरीका में रहकर रूस के लिए जासूसी का काम कर रही थी। इसका सेलिब्रिटी स्टेट्स भी इसके काम में सहायक बना। अगर अमरीकी खुफिया एजेंसियां भी इसके रूप-सौंदर्य और सेलिब्रिटी होने पर यकीन रखती, तो शायद इसे कभी पकड़ा नहीं जा सकता था। अमरीकी अटार्नी जनरल ने बिना अनुमति विदेशी सरकार के लिए एजेंट का काम करने के आरोप में 27 जून 2010 को ऐना चैपमैन को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि दोनों देशों ने 8 जुलाई 2010 को एक-दूसरे के जासूसों को छोडऩे का फैसला किया और अना वापस रूस आ गई। ऐना को दोबारा एफबीआई द्वारा भी गिरफ्तार किया गया था। 3 जुलाई 2013 को ऐना की फोटोज और विडियो इंटरनेट पर वायरल हो गए थे, जब उन्होंने एडवर्ड स्नोडेन को शादी के लिए प्रपोज किया था। बता दे कि स्नोडेन अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के कर्मचारी थे और उनके खिलाफ अमेरिका के कुछ सीक्रेट जगजाहिर करने का आरोप लगा था।

इजाबेला मरी ब्वॉयड को बैलै ब्वॉयड और क्लियोपेट्रा ऑफ द सिसेजन के नाम से भी जाना जाता है। जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि क्लियोपेट्रा की तरह ही वह सुंदर और पुरुषों को रिझाने में माहिर थी। बताया जाता है कि 4 जुलाई 1861 में सैनिकों ने उसके घर के बाहर दूसरे का झंडा देखा। सैनिकों ने उस झंडे को फाड़कर नीचे पटक दिया। इससे इजाबेला को इतना गुस्सा आया कि उसने एक सैनिक को उसी समय गोली मार दी। जांच बिठाई गई और उसके घर के बाहर सैन्य अधिकारियों को निगरानी के लिए तैनात कर दिया गया। हालांकि इस मौके का भी उसने फायदा उठाया और निगरानी कर रहे एक सैन्य अधिकारी को अपनी सुंदरता के जाल में फंसा लिया। इस अधिकारी से उसने खुफिया जानकारियां जुटाई और अपने आकाओं को अपने नौकर के जरिए भिजवाई।

चार्लओटे की सुंदरता और शातिर दिमाग ने उसे कुख्यात जासूसी ग्रुप में आने का मौका दिया। सिर्फ महिलाओं के इस जासूसी ग्रुप का काम नवेरे राज्य की कोर्ट के अति-महत्वपूर्ण व्यक्तियों को रिझाना, अपने प्रेम जाल में फंसाना और उनसे खुफिया जानकारी लेना था। ये सारी जानकारी राज्य की राजमाता को दी जाती थी। 1575 में कैथरीन डी मेडिसी ने अपने पुत्र हैनरी तृतीय की हत्या कर दी और चार्लओटे को राजा के छोटे पुत्र फ्रांनकोईस को प्रेमजाल में फंसाने का आदेश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *