16 साल का ये पति अपनी 71 साल की बीवी को रखता है कमरे में कैद, वजह जानेंगे तो सर पकड़ लेंगे !

जब दो प्यार करने वाले प्रेमी होते हैं तो उन्हें उम्र कोई मायने नहीं रखती. वो एक कहावत भी है कि प्यार करने वालों के लिए उम्र बस एक नंबर समान होती है. आपका भी कई बार ऐसे जोड़ों से सामना हुआ होगा जिनकी उम्र में काफी अंतर होगा. आज हम आपको ऐसे ही एक जोड़े के बारे में बताने जा रहे हैं जिनके बीच के उम्र के फांसले को जानेंगे तो आप भी चौंक जायेंगे.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस जोड़े के बीच एक दो नहीं बल्कि पूरे 55 साल की उम्र का अंतर है. यहां पति की उम्र ज्यादा नहीं बल्कि पत्नी की उम्र ज्यादा है ये सुनकर आप भी चौंका गये होंगे. जी हाँ ये बिल्कुल सच है यहां लड़का 16 साल का नाबालिग है तो पत्नी 71 साल की है और ये अपनी पत्नी को कमरे में कैद रखता है इसके पीछे की वजह जानकर आप हैरान रह जायेंगे. आइये बताते हैं आपको इनके बारे में विस्तार से..

16 साल के Selamet और 71 साल की rohaya का जोड़ा इन दिनों इंटरनेट पर सुर्ख़ियों में बना हुआ है. बता दें कि ये इंडोनेशिया के रहने वाले हैं और इनका रिश्ता इस समय हर किसी व्यक्ति की जुबान पर चढ़ के बोल रहा है. इनकी उम्र में काफी अंतर होने के बावजूद भी इन लोगों का रिश्ता उतना ही प्यारा है जितना एक प्यार करने वाले लोगों का होता है.

 इनके घर वाले इनकी शादी को लेकर इनके बिल्कुल खिलाफ थे लेकिन ये एक-दूसरे से बहुत प्यार करते थे और इन्होने शादी कर ली. इतना प्यार होने के बाद भी पति घर से निकलने के बाद पत्नी को कर देता है कमरे में कैद.

selamet जब भी घर से बाहर जाता है तो अपनी 71 वर्षीय पत्नी को कमरे में अंदर करके बाहर से ताला मारकर कहीं जाता है. जब selamet से इसके बारे में पूछा गया कि आखिर इसके पीछे क्या वजह है जो तुम अपनी पत्नी को कैद करके कहीं बाहर जाते हो तो selamet ने जवाब दिया कि उसे इस बात का डर है कि कोई गैर मर्द उसे बहला-फुसलाकर भगा न ले जाए इस लिए कमरे को बाहर से लॉक करके जाता है. इसी शक के चलते वो शुक्रवार को नमाज तक पढ़ने नहीं जाता है.

शादी के बाद ये कपल हनीमून मनाने भी जा चुके हैं और भविष्य में दोनों ने सोच लिया है कि वो बच्चा पैदा करना चाहते हैं. दोनों ने बच्चों के नाम तक सोचकर रख लिए हैं.अगर लड़का हुआ तो Andre Maulana और लड़की हुई तो Permata Sari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *