You are here
Home > अभी अभी > सावधान! एक अक्‍टूबर से बैंक अकाउंट होल्डर्स के लिए खड़ी होगी ये नई मुसीबत
loading...
loading...

सावधान! एक अक्‍टूबर से बैंक अकाउंट होल्डर्स के लिए खड़ी होगी ये नई मुसीबत

अक्टूबर का महीना बैंक अकाउंट होल्डर्स के लिए बुरी खबर लेकर आ रहा है। अगर सितंबर के बचे पांच दिनों में आपने ये काम नहीं किया तो आपको मुसीबत का सामना करना होगा।एक अक्तूबर से छह बैंकों की चेक अमान्य हो जाएंगे। अगर एक अक्टूबर से पहले इन बैंके के ग्राहकों को नई चेक बुक के लिए आवेदन करना होगा।

 

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया यह बदलाव करने जा रहा है। बैंक के छह सब्सिडियरी बैंकों की चेक बुक और आईएफएस कोड एक अक्तूबर से वैध नहीं होंगे। स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, ए स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ त्रवणकोर और भारतीय महिला बैंक। अप्रैल 2017 में एसबीआई में इनका विलय हो गया था। इस कारण स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, ए स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ त्रवणकोर और भारतीय महिला बैंक के चेक एक अक्टूबर से अमान्य हो जाएंगे।

एसबीआई ने निर्देश दिए हैं कि इन बैंकों के ग्राहक पुरानी चेक बुक जमा करा दें और नई चेक बुक के लिए आवदेन कर दें, नहीं तो नुकसान झेलना पड़ सकता है।

अगर आपका सेविंग और करंट अकाउंट है, तो आप 1 अक्टूबर 2016 तक केवाईसी अपडेट करवा लें। अगर आपने ऐसा नहीं किया तो एटीएम समेत आपका अकाउंट ब्‍लॉक किया जा सकता है। ऐसी स्थिति में कस्टमर्स अपने अकाउंट से किसी भी पैसे का लेन-देन नहीं कर पाएंगे।

अपने अकाउंट होल्‍डर्स से अपील की है कि वो 1 अक्‍टूबर 2016 से पहले निश्चित तौर पर अपना केवाईसी अपडेट करा लें। आपको बता दें कि केवाई के जरिए बैंक अपने सारे कस्टमर की जानकारी रखती है। ऐसे में आप को केवाईसी के जरिए आपको पासपोर्ट, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, इलेक्‍शन आईडी, पैन कार्ड की कॉपी बैंक में जमा करनी होती है। वहीं अगर आपका अकाउंट करंट अ

Leave a Reply

loading...
Top
loading...