You are here
Home > रोचक पोस्ट > आखिर क्यों रात के समय शमशान से भूलकर भी नहीं गुजरना चाहिए
loading...
loading...

आखिर क्यों रात के समय शमशान से भूलकर भी नहीं गुजरना चाहिए

जितना सत्य जन्म में  होता है उतना ही सत्य मृत्यु भी है पर अक्सर लोग मृत्यु से दर जाते हैं …शमशान घाट का नाम सिनकर लोग डर  जाते हैं …दिन में भी शमशान घाट के सामने जाने से डरते हैं शायद आप भी ,यही नहीं आप के इस डर का कई लोगो ने मजाक भी बनाया होगा |पर आपको ये बता दे की आपका ये दर कोई मजाक का नहीं बल्कि सच्चाई है |इसका कारण हम आज आपको बताएँगे |

 

१- रात के समय में नकारात्मक शक्तिया अधिक सक्रीय हो जाती हैं यानि की अधिक शक्तिशाली हो जाती हैं |

२-पैरानोर्मल पॉवर उन लोगो पर अपना प्रभाव अधिक स्थापित करती है जो मानसिक रूप से कमजोर होते हैं |

३-जो ब्यक्ति अकेले रहता है और सोचता जादा है जो ब्यक्ति रात के समय शमशान घाट के पास से निकलता है ये शक्तियां उस पर हमला कर देती हैं |

४-यदि कोई   ब्यक्ति भावनात्मक रूप से कमजोर है उसर ये   नकारात्मक शक्तिया बहुत जल्दी प्रभाव डालती हैं और उसके कार्य में असफलता साफ़ दिखाई दे जाती है |

५-जब कोई ब्यक्ति इन नकारात्मक शक्तियों के प्रभावता    में आता है तो उसका खुद पर काबू नहीं रहता है वह ब्यक्ति उसके वश में हो जाता  है और उसका जीवन सामान्य नहीं रहता है

६-इसके  साथ कभी भी इत्र या खुसबू वाली चीजो का प्रयोग  करके भी कभी भी इन स्थानों से नहीं निकलना चाहिए |  ये सुगंध इन शक्तियों को अपनी ओर आकर्षित करती हैर लगाने वाले ब्यक्ति पर अपना प्रभाव स्थापित कर देती  है |

सकारात्मक   और नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव हम पर होता है कमजोर सोच के लोगो को नकारात्मक शक्तियां तुरंत ही प्रभावित कर लेती हैं |   इसीलिए कहते है की रात के समय   किसी भी शमशान घाट के पास से नहीं  गुजरना चाहिए | आप    के द्वारा कियाया ऐसा कार्य आपको परेशानी में दाल सकता है |

Leave a Reply

loading...
Top
loading...