You are here
Home > अभी अभी > बिछिया पहनने वाली औरतें हो जाए सावधान, इसके उपयोग से भी हो सकते हैं आपके पति गरीब
loading...
loading...

बिछिया पहनने वाली औरतें हो जाए सावधान, इसके उपयोग से भी हो सकते हैं आपके पति गरीब

भारतीय परंपरा के अनुसार हर महिला शादी के बाद अपने पैरों में बिछिया पहनती हैं, कहा जाता है बीछिया पहनने का हक केवल शादीशुदा औरंतों का ही होता है. इसे अविवाहित लड़कियां धारण नही करती हैं, कहा जाता है इसको हमेशा पहनने से महिलाओं का मासिक चक्र नियमित रुप से होता है. साथ ही गर्भधारण में भी किसी भी तरह की परेशानी नहीं आती है, लेकिन आप नहीं जानते होगे कि यदि महिलाएं अपने पैर के बिछियेे का सही तरह से अपयोग नहीं करती हैं तो वह अपने पति के बर्बादी का कारण भी बन सकती हैं.

बता दे कि औरंतो की पैर की दूसरी अंगुली की तन्त्रिका का सीधा संबध गर्भाशय से होता है जो कि हृदय से होकर गुजरती है , आपने देखा होगा कि औरंते बिछिया केवल पैर के दाहिने तथा बायें पैर की दूसरी अंगुली में ही पहनती हैं, क्योंकि यह गर्भाशय को नियन्त्रित करेगी और गर्भाशय में सन्तुलित रक्तचाप द्वारा उसे स्वस्थ रखेगी।

खहा जाता है कि बिछिया के बिना हर सिंगार अधुरा रहता है,ज्योतिष अनुसार इसको पहनने का एक दूसरा कारण यहा है कि इसे पहनने से सूर्य और चांद्रमा का प्रतिक माना जाता है , सूर्य और चंद्र की कृर्पा आप पर बनी रहे इसीलिए भी महिलाएं बिछिया पहनती हैं, साथ ही ध्यान रखें कभी भी सोने का बिछिया पैरों में नहीं पहनना चाहिए, हमेशा चांदी का बिछिया ही पैरों में पहने.

बिछिया पहनते समय ध्यान रखें कि यह कभी भी आपकी पैर की ऊगली में से खोने नहीं चाहिए, और साथ ही अपनी पहने हुए बिछये किसी ओर को उतार कर नहीं देने चाहिए. क्योंकि ऐसे करने से आपके पति बिमार पड़ सकते है. परेशानियां दिन पर दिन बढ़ने लगती हैं, पति भारी कर्ज भी हो सकता है. धन की कमी होने लगती हैं. बता दें कि वैदों के अनुसार पैरों में पायल या बिछिया घुघरु वाले पहनने चाहिए इसकी आवाज से मां लक्ष्मी का वास होता है

Leave a Reply

loading...
Top
loading...