You are here
Home > देश-विदेश > पूरी दुनिया है हैरान की बरमूडा ट्रेंगल से कैसे लौट आया ये जहाज जहा से आज तक कोई नहीं लौट पाया है
loading...
loading...

पूरी दुनिया है हैरान की बरमूडा ट्रेंगल से कैसे लौट आया ये जहाज जहा से आज तक कोई नहीं लौट पाया है

जब कही कोई रहस्य की बात होती है तो बरमूडा का जिक्र होना लाजमी है यह दुनिया का सबसे बड़ा रहस्य माना जाता है जिसे आज तक कोई भी सुलझा नहीं पाया है |    ना  जाने कितने शिप और प्लेन को ये दैत्य रुपी सागर अपने अन्दर समा चूका है ,दैत्य रुपी इसको इसीलिए कहा गया क्योकि एक बार इसकी सीमा में जो आ गया वो कभी भी लौटकर नहीं आता है |

लेकिन हाल में  में हुई एक घटना ने सबको हिला कर रख दिया है क्योकि वो हो गया जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था एक जहाज लगबघ 90 सालो  के बाद इस इस बरमूडा ट्रेंगल से निकल कर   आया है |

मान्यताओ के अनुसार यह एक ऐसा रहस्यमयी चेत्र  है जहा पर वायुयान और जल यान रहस्यमयी तरीके से गायब हो जाते हैं   1964 में  पत्रिका ने इसे बरमूडा त्रिभुज नाम दिया था तब से चेत्रर सनसनी खेज समाचारों  और कहानियो के लेखको की कलम चलती ही आ रही है | यह बरमूडा त्रिभुज जिसे शैतान त्रिभुज के रूप में  भी जाना जाता है उत्तर पश्चिम अटलांटिक का एक चेत्र  है जिसमे कुछ विमान और सतही जहाज गायब होते रहते हैं |कुछ लोगो का दावा है की यह गायब होने की बाते मानव त्रुटी या प्रकृति के सीमाओ के परे हैं |

कुछ लोग इसे असामान्य यानि की पैरानोर्मल गतिविधियों से भी सम्बन्ध बताते हैं ,क्यूबा के कोस्ट गार्ड ने ये बताया की उन्हें एक पानी का जहाज मिला है लेकिन वो लावारिश था यह 1925 से  इसी ट्रेंगल से गायब हो गया था लेकिन हाल में ही यह फिर से मिल गया है | क्यूबन अथॉरिटी ने इसे हवाना में इसे मिलेट्री जोन में पाया उनोंहे कई बार इसके क्रू मेम्बर से संपर्क करने की कोशिश करी लेकिन बात नहीं बन पायी |

अब बात तो तब होगीबी इस पर कोई होगा उसके बाद तीन  पेट्रोलिंग बोट भेजी गयी और इसकी जानकारी  ली गयी जब वो लोग इस शिप पर  पहुचे तो देख के  हैरान हो गए की ये लगबघ सौ साल पुरानी शिप है जिसका नाम कोटो पैक्सी है यह वो नाम है  जो बरमूडा  में गायब हो चुके सीरीज में शमिल है इस जहाज पर  कोई भी नहीं   मिला यह जहाज 1925 में गायब हो गया   था |

इसके अन्दर  कुछ मिला तो कैप्टन को लाग बुक जिससे पता चलता है  की यह क्रिंच फील्ड नेविगेशन का जहाज था  इस जहाज के ओनर से भी बात की गयी लेकिन कुछ भी पता नहीं चल सका आखिर नब्बे साल पहले   हुआ क्या था यह आज तक एक रहस्य बना हुआ है | क्यूबा के एक्सपर्ट ने कहा की यह लाग बुक अन्थोटिक है जिससे यह  साबित होता है की  यह वही जहाज है जो  19२५  में गायब हुआ था इस बुक में जहाज की सारी कहानी दर्ज है लेकिन 1 दिसम्बर 2010 को इसकी कहानी अचानक रुक गयी है | बताया  जाता है की इस  जहाज में 32 टन कोयला ले जाया जा रहा था  यात्रा शुरू  होने २ दिन बाद ही यह लापता हो गया था और नब्बे साल तक लापता था जो अब इस हालत में मिला है |

Leave a Reply

loading...
Top
loading...