You are here
Home > नेशनल > इस IPS की कहानी देखकर आपकी आँखों से आ जायंगे रोने को मजबूर देखें –
loading...
loading...

इस IPS की कहानी देखकर आपकी आँखों से आ जायंगे रोने को मजबूर देखें –

आज आपको ऐसे एक आईपीएस के बारें में बताएँगे जिन्हें लोग मसीहा मानतें है | उनकी वर्दी दूसरों को डराती नहीं बल्कि और बाद बुलाती है | वो जरुरत मंदों की जरुरत है | और द्रष्टिहीन लोंगो की आँखों की रौशनी है | आईपीएस ऑफिसर के रूप में यह शख्स एक पूरे गाँव के लिए पालन हार की भूमिका निभा रहा है | उसने गाँव को गोद ले लिया है |

और वहां के लोग उनको भगवान मानतें है | हमारे देश में आईपीएस तो बहुत होंगे पर इस तरह के ईमानदार और सामजिक कार्यों के लिए बिना किसी लालच जुटे रहतें है | इस आईपीएस अधिकारी जैसा हर अधिकारी हो जाये तो इस देश का भला ही हो जाए  तो फिर इस देश को बदलने में देर नहीं लगेगी | इस आईपीएस का नाम रवि कृष्ण है |



रवि कृष्ण आंध्रप्रदेश के रॉयल सीमा मंडल में आने वाले कुरनूल जिले में मोजूद है | इनकी सबसे खास बात यह है की सरकार के द्वारा चलायी जा रही मुहीम के अलावा खुद की चलायी जा रही मुहीम में व्यस्त रहतें है | वो लोंगो को जागरूक करके उनको नेत्रदान के लिए प्रेरित करते है | पिछले ही साल रवि ने खुद नेत्र दान की सपथ ली | तब से वह लोंगो के बीच लोंगो को नेत्रदान की अहमियत बताते है | इनकी इस मुहीम के चलते अब तक लगभग डेढ़ लाख लोगो ने  नेत्र दान करने का फैसला लिया है | रवि क्रष्ण आईपीएस बनाने के पहले केनरा बैंक में डाटा आपरेटर का काम करते थे | उनकी मुहिम लोगों को जागरूक करके उन्हें नेत्रदान करने के लिए प्रेरित करने की है|
खुद लिख कर गाते है गाना –

रवि कृष्ण लोगों को आगे बढ़कर नेत्रदान करने के लिए गानों से भी प्रेरित करते हैं. साथ ही साथ लोंगो को प्रेरित करते है की नेत्रदान कैसे दूसरों की आँखों की रौशनी लौटा सकता है | और दूसरा शख्स भी दुनिया के खूबसूरत नजारों को देख सकता है | ये गाने उन्होंने खुद लिखे हैं और खुद ही गाए हैं. उन्होंने ‘कल्लनू दानम चेयी, नी चूपनू दानम चेयी’ गाना लिखा और गाया है. यही कारण है अपने गानों की वजह से ही वह सोशल मीडिया की नज़र में आये | . उनके कई गानों के लिए आंध्रप्रदेश की सरकार ने इसको कई बार मेडल भी मिल चुके है | इसका मतलब है कि ‘आंखें दान करें, रौशनी दान करें. कुरनूल के ब्लाइंड स्कूलों में नियमित आने-जाने के कारण रवि कृष्ण को यह गाना लिखने की प्रेरणा मिली. 
रविकृष्ण जिस काम में लगे हैं, उससे उन्हें लोकप्रियता तो मिल ही रही है. लेकिन सबसे अच्छी बात यह हैं कि उनके प्रयासों से एक बड़े इलाके किस्मत बदल रही है. वास्तव में रवि कृष्ण जैसे पुलिस ऑफिसर ही लोगों के सच्चे ऑफिसर कहलाते हैं. देश को ऐसे एक नहीं लाखों अफसरों की जरूरत है.

 

Leave a Reply

loading...
Top
loading...