You are here
Home > रोचक पोस्ट > आज तक कोई इसका रहस्य समझ नहीं सका है की यह क्या था क्या आप जान पाएंगे ??
loading...
loading...

आज तक कोई इसका रहस्य समझ नहीं सका है की यह क्या था क्या आप जान पाएंगे ??

आम तौर पर एक नार्मल मनुष्य वाही होता है जिसके एक सिर , दो हाथ और दो पैर होते हैं लेकिन क्या आपने ऐसा ब्यक्ति देखा है जिसके दो मुह हों आपने हमेशा से ही एक कहावत जरुर सुनी होगी जिसमे कहा जाता है की हर आदमी के दो चहरे हैं एक दिखावे का और दूसरा असली ऐसा उनके लिए कहा जाता है जो दुनिया के लिए तो कुछ और होते है पर वास्तव जिन्दगी में कुछ और होते हैं |

जैसे कोई ख़ुफ़िया एजेंट जो दुनिया के लिए तो कुछ और होता है लेकिन अपनी असली जिन्दगी में कुछ और ही होता है ,या फिर ऐसा कोई अपराधी किस्म का आदमी जो दुनिया के लिए तो शरीफ होता है जबकि वास्तव में वो बाहर कोई गोरखधंधा करता है या फिर उसमे लिप्त होता है | खैर ये सब तो कहने की बाते हैं आज हम आपको बताने जा रहे है एक ऐसे आदमी के बारे में जिसके वास्तव में दो चेहरे थे इस इन्सान का नाम एडवर्ड था |

एडवर्ड का जन्म 19 वी सदी में लन्दन में हुआ था यह शख्स दो चेहरों केर साथ में ही पैदा हुआ था उसके सिर के पीछे भी एक चेहरा था दुसरे चेहरे से एडवर्ड देख और सुन भी सकते थे लेकिन वे इससे खाना नहीं खा सकते थे और न ही बोल सकते थे |

जब एडवर्ड हसते थे या फिर रोते थे तो  उनके पीछे वाला चेहरा भी  यही करता था ,वो अपनी इस अजीब और गरीब स्थति से काफी परेसान हो गए थे उनोंहे डॉक्टर से इसकी सर्जरी भी कराने के लिए भी कहा लेकिन कोई भी डॉक्टर इसके लिए तैयार ही नहीं हुआ क्योकि उस ज़माने में इस तरह की सर्जरी होती ही नहीं थी |

लोग  एडवर्ड  को दैत्य या शैतान  का बेटा भी कहने लगे थे छोटे बच्चे इनको देख कर डर  जाते थे जबकि कई लोग तो इन्हें चिड़ाते थे ,एडवर्ड का कहना था की जब वो रात में सो जाते हैं तो उनका चेहरा उनसे कुछ फुसफुसा कर कहता है जिसे वह समझ नहीं पाते हैं लेकिन घबरा जरुर जाते हैं |

एडवर्ड ने अपने इसी चेहरे से परेसान होकर एक दिन आत्महत्या कर ली लोगो का कहना था की मौत के बाद भी एडवर्ड का दूसरा चेहरा काफी देर तक कुछ फुसफुसा रहा था जो लोगो के लिए आज तक एक रहस्य बना हुआ है |

Leave a Reply

loading...
Top
loading...