अम्बानी के बेटे की शादी होगी इस लड़की से जाने कौन है वो खुशनसीब 

हाल ही में एक बार फिर बॉलीवुड में सलमान खान और कटरीना की नजदीकियां देखकर लग रहा था की शायद ये दोनों फिर से एक साथ हो सकते है। पर लगता है सलमान की जिंदगी में अब कटरीना का आना महज़ इनकी आने वाली फिल्म टाइगर जिन्दा है तक ही सीमित था हम आपको आज एक खास शख्सियत के बारे में बताने जा रहे हैं, भारत के सबसे अमीर व्‍यक्ति के बेटे आकाश मुकेश अंबानी हैं।

जैसा की हमने पहले भी बताया है कि भारत में प्रदान की जाने वाली जियो 4 जी सेवा के प्रमुख हैं।ऐसा इसलिए है क्योंकि इन दिनों एक और ख़ास खबर बॉलीवुड गलियारों में गूँज रही है वो है कटरीना और देश के सबसे बड़े बिसनेस मैन मुकेश अम्बानी के बेटे आकाश अम्बानी के बीच बढ़ती खास नजदीकियां। इस खबर पर मुहर इस बायत से भी लगती है क्योंकि पिछले दिनों आकाश अम्बानी ने कटरीना कैफ को एक आलिशान गाडी गिफ्ट की है।


साथ ही ये रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड (आरआईएल) के प्रबंध निदेशक व चेयरमैन मुकेश अंबानी और रिलायंस फाउंडेशन की संस्थापक नीता अम्बानी के बड़े बेटे हैं। आकाश नए बिजनेस आईडिया को लेकर भी बहुत ज्यादा एक्टिव रहते हैं। जिओ का आईडिया भी आकाश अंबानी का ही है। कभी अपने फिगर को लेकर तो कभी अपने शौक को लेकर। आज फिर से ये चर्चा में बने हुए हैं


लेकिन इस बार कारण कुछ और है। कहते हैं कि सबसे अमीर इंसान का का बेटा होना अपने आप में एक अलग ही बात होती है। कुछ ऐसी ही अलग सी फीलिंग आकाश अंबानी की भी है। ये अब अपने मंहगे शौक के वजह से मशहूर हैं लेकिन इनके बचपन को मुकेश और नीता अंबानी ने हमेशा से अपने बच्चों की शिक्षा और संस्कार में उस हर बात का ख्याल रखा, जो उन्हें योग्य बनाने के साथ ही अच्छा इंसान भी बनाए।


इस बात का पता इससे चलता है कि नीता अंबानी अपने बच्चों को जेब खर्च के लिए सिर्फ पांच रुपए देती थीं। इसके साथ ही महंगी गाड़ियों की जगह बस से स्कूल भेजती थीं। लड़कियां केवल सपना देखती है मुकेश अंबानी के बेटे आकाश आंबानी के साथ के लिए। लेकिन कटरीना ने तो उन्हें हमेशा के लिए अपना बना लिया। आपको बता दें की आकाश अम्बानी कटरीना से 8 साल छोटे है कुछ मीडिया रिपोर्ट्स ये भी कहती है की रणबीर से ब्रेक अप के बाद कैट आकाश के साथ बहुत वक़्त गुज़ार रहीं हैं और दोनों काफी क्लोज हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *