You are here
Home > नेशनल > अमिताभ बच्चन के परिवार का हिस्सा जी रहा है ग़रीबी में दो जून तक रोटी नसीब नहीं इसे
loading...
loading...

अमिताभ बच्चन के परिवार का हिस्सा जी रहा है ग़रीबी में दो जून तक रोटी नसीब नहीं इसे

बच्चन परिवार का नाम विश्व विख्यात है और शायद ही ऐसा कोई भारतीय हो जो अमिताभ बच्चन को नहीं जानता होगा बच्चन परिवार की नीव हरिवंश राय बच्चन ने रखी फिर उनकी कामयाबी और शोहरत का जो सफर शुरू किया था उससे उनके बेटे अमिताब बच्चन ,और पोते अभिषेक बच्चन औरे उनके बाकी के सदस्यों ने कई आयाम दिए |

लेकिन हम इस अरबपति पारिवार के  उस हिस्से को बताएँगे जो आज दो जून की रोटी के लिए भी तरसता है जिनकी सुध हरिवंश राय बच्चन के गुजर जाने के बाद कभी नहीं ली गयी |  जो आज तंगहाली के उस दौर में जी रहा है जहाँ उसे पेट भरने के लिए भी पैसे पैसे के लिए मोहताज होना पड़  रहा है |

हम बात कर रहे हैं हरिवंश राय    बच्चन की सगी बहन अनु की जो अपनी बधहाली की जिन्दगी जीने  को मजबूर हैं जहा एक तरफ बच्चन परिवार करोणों की संपत्ति का मालिक है तो वही दूसरी तरफ बच्चन परिवार के ये लोग सही तरीके से पेट भी नहीं भर पा रहे हैं |
अनूप की पत्नी मर्दुला के मुताबिक उनके सास ससुर के देहांत के बाद बच्चन परिवार से पूरी तरह उनका रिश्ता टूट गया आखिरी बार अभिषेक बच्चन की शादी में कार्ड आया था लेकिन पैसो की तंगी की वजह से वो शादी में जा नहीं सके |

इसके साथ में यह डर भी था की अब बच्चन परिवार उन्हें पहचान पायेगा या नहीं अब अनूप और मर्दुला अपने परिवार  का खर्च निकालने के लिए लोगो के घर घर जाकर लेफ्टर का काम करते हैं |


अपने फुफेरे भाई रामचद्र के भाई अनूप और उनको पत्नी  मर्दुला की ऐसी हालत पर अमिताभ बच्चन जैसे लोगो का सुध नहीं लेना वाकई में शर्म की बात  है कश्मीर में एक मकान इनका पुस्तैनी है अनूप और मर्दुला की दिली ख्वाइश थी की इसी मकान में अमिताभ बच्चन स्कूल या म्यूजियम बनवा दे जिससे हरिवंश   राय की यादे यहाँ हमेशा जिन्दा रहे |

लेकिन अमिताभ ने इस तरफ कभी रुख ही नहीं किया इसके बावजूद भी इन लोगो ने बच्चन   परिवार की एक एक चीज और याद को संजोकर रखा था इनका कहना है  की जब बच्चन परिवार इनसे कोई ताल्लुक नहीं रखना चाहता तो ये उनकी यादो से दूर होकर अपनी जिन्दगीऐना चाहते हैं | बुरा लगता है तो इस  बात     का साल भर बच्चन परिवार के इस पुस्तैनी मकान को देखने आते रहते हैं लेकिन बच्चन परिवार इसकी कभी सुध ही लेने नहीं आता है |

 

Leave a Reply

loading...
Top
loading...